बालों का झड़ना(Hairfall)

बालों का झड़ना, जिसे ऐलोपेशिया या गंजापन भी कहा जाता है कुछ लोगों में बाल गिरने का कारण मनोवैज्ञानिक संकट होता है. हर दिन बाल झड़ते है एक व्यक्ति के प्रति दिन 100 बाल झड़ते हैं. लेकिन अधिक बाल झड़ने से किसी व्यक्ति के सिर पर गंजे धब्बे दिखाई देते हैं| महिला के शीर्ष पर बाल पतले होते हैं|

हेयर फॉल क्या है?(What is hair fall)?

बाल झड़ना कोई जानलेवा स्थिति नहीं है. लेकिन यह गंभीर रूप से खतरे में पड़ सकता है कि जिस तर यह आत्मविश्वास को खतरे में डाल सकता है. पुरुष, महिला और यहां तक ​​कि बच्चे भी बालों के झड़ने का अनुभव कर सकते हैं. यह स्थिति आमतौर पर हार्मोनल परिवर्तन, आनुवंशिकता, चिकित्सा स्थितियों या कुछ दवाओं के साइड-इफेक्ट के परिणामस्वरूप होती है. वंशानुगत कारणों से बालों का झड़ना बालों के झड़ने का सबसे आम कारण होता है|

बालों के झड़ने के प्रकार क्या हैं?(What are the types of hair loss)?

बाल विकास दर लोगों की उम्र के रूप में धीमी हो जाती है और इसे ऐलोपेशिया कहा जाता है. बालों के झड़ने के कई प्रकार होते हैं|

1.अनौपचारिक ऐलोपेशिया :- यह उम्र के साथ बालों का प्राकृतिक रूप से पतला होना है बालों के रोम की संख्या में वृद्धि होती है और अन्य बाल कम और छोटे हो जाते है|

2. एंड्रोजेनिक ऐलोपेशिया (Androgenic alopecia):- इस अनुवांशिक स्थिति से महिला और पुरुष दोनों प्रभावित हो सकते हैं जिन पुरुषों की यह स्थिति होती है, उनके किशोरावस्था में भी बाल झड़ने लगते हैं यह ललाट खोपड़ी और स्कैल्प से क्रमिक बालों के झड़ने और हेयरलाइनिंग द्वारा चिह्नित किया जाता है इससे प्रभावित होने वाली महिलाओं के बालों में उनके फोरटीज के बाद बाल पतले होते हैं. इसे महिला गंजापन के रूप में जाना जाता है|

3.ऐलोपेशिया आरैटा (Alopecia areata):- यह आमतौर पर अचानक शुरू होता है और युवा वयस्कों और बच्चों में पैच में बालों के झड़ने की ओर जाता है यह पूरा बाल्डिंग (ऐलोपेशिया) हो सकता है इस स्थिति वाले 90% से अधिक लोगों में, बाल कुछ वर्षों में वापस उग जाते हैं|

4.ट्रिकोटिलोमेनिया (Trichotillomania) :- यह बच्चों में सबसे अधिक देखा जाता है इस मनोवैज्ञानिक विकार के कारण व्यक्ति अपने ही बालों को खराब कर देता है|

5.टेलोजेन इफ्लुवियम ( Telogen effluvium) :- बाल विकास चक्र परिवर्तन से खोपड़ी पर बालों का एक अस्थायी पतलापन होता है यह बहुत सारे बालों को आराम करने वाले चरण में प्रवेश करने के कारण होता है जो बाल को हल्का कर देता है और परिणामस्वरूप पतले हो जाता है|

6.स्कारिंग ऐलोपेशिया (Scarring alopecia):- त्वचा की इंफ्लामेटरी स्थितियां जैसे कि फॉलिकुलिटिस, मुँहासे और सेल्युलाइटिस, ऐसे परिणाम उत्पन्न करते हैं जो बालों की पुनर्जीवित करने की क्षमता को नष्ट कर देते हैं|

बाल गिरने के कारण क्या हैं?(What are the causes of hair fall)?

बालों का झड़ना उन लोगों में सबसे अधिक प्रचलित है, जिनमें बाल झड़ने का पारिवारिक इतिहास है, आनुवांशिकी इसमें बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं. कुछ हार्मोन भी बालों के झड़ने को ट्रिगर करते हैं जो आमतौर पर यौवन के दौरान शुरू होते हैं. दर्दनाक घटनाओं, सर्जरी और प्रमुख बीमारियों जैसे अन्य कारक भी तीव्र बालों के झड़ने को ट्रिगर कर सकते हैं. ऐसे में कुछ समय बाद बाल अपने आप उगने लगते हैं. गर्भावस्था के दौरान रजोनिवृत्ति, अचानक गर्भनिरोधक गोलियां, प्रसव और हार्मोनल परिवर्तन के कारण अस्थायी बालों के झड़ने का कारण हो सकता है|

कुछ अन्य कारण हैं जिनके माध्यम से बालों का झड़ना होता है (There are some other reasons through which hair loss occurs)

  • हार्मोन (Hormones):- असामान्य एण्ड्रोजन स्तर के कारण बाल गिर सकते हैं|
  • जीन (Jean):- माता-पिता से जीन किसी व्यक्ति की महिला या पुरुष गंजापन होने की संभावना को बढ़ा सकते हैं|
  • ड्रग्स (Drugs):- ब्लड थिनर, कैंसर उपचार दवाओं, जन्म नियंत्रण दवा और बीटा ब्लॉकर्स के कारण बालों का गिरना भी हो सकता है|
  • मेडिकल प्रिडिस्पोजिशन (Medical predisposition):- डायबिटीज, ल्यूपस, आयरन की कमी, थायरॉइड डिजीज, एनीमिया और ईटिंग डिसऑर्डर से बाल झड़ सकते हैं|
  • कॉस्मेटिक (Cosmetic) :- हेयर डाई, ब्लीचिंग और शैंपू के उपयोग जैसी प्रक्रियाएं सभी बालों को पतला कर सकती हैं जिससे यह कमजोर हो जाते हैं. बालों को कसकर बांधना, गर्म कर्लर या रोलर्स का उपयोग करने से भी बालों का टूटना और नुकसान होता है हालांकि, इनमें गंजापन नहीं होता है|

Tresemme हेयर फॉल डिफेंस शैम्पू(Tresemme Hair Fall Defense Shampoo)

  • बाल मजबूत बनाता है और टूटने के कारण बालों के झड़ने को रोकता है|
  • लंबे और मजबूत बाल पाएं|
  • दैनिक उपयोग के लिए पर्याप्त कोमल|
  • अतिरिक्त सुरक्षा के लिए बालों के झड़ने से बचाव कंडीशनर का पालन करें।
  • विशेष रूप से भारतीय बालों के लिए तैयार और तेल उपचार के साथ उपयोग के लिए उपयुक्त है|

प्याज हेयर ऑयल – बालों के झड़ने को नियंत्रित करता है(Onion Hair Oil – Regulates Hair Loss)

सामग्री (Content) :- लाल प्याज का अर्क, नारियल का तेल, सूरजमुखी का तेल, विटामिन ई, अरंडी का तेल, आर्गन का तेल, जोजोबा का तेल, आंवला का अर्क, हिबिस्कस का अर्क, नीम का तेल, भृंगराज का अर्क, आम का मक्खन, शीया का मक्खन, चंदन का तेल, गुलाब का तेल

पोषण (Nutrition) :- बीक्यूस प्याज बालों के रोम पोषण में बहुत अच्छे होते हैं|

खोपड़ी पर फंगल संक्रमण (Fungal infection on the scalp) :- प्याज में शक्तिशाली एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं और खोपड़ी के संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं। यह बदले में बालों के झड़ने को कम करने में मदद करता है क्योंकि खोपड़ी के संक्रमण से बालों का भारी नुकसान हो सकता है।

फ्रेम फ्रिज़ (Frame fridge) :- वनस्पति तेलों के निर्माण के साथ रे नैचुरल प्याज हेयर ऑयल, नमी में बालों के लॉक की चमक को बढ़ाने में मदद करता है, बालों के उलझते हुए छोरों को बंद और ढीला करता है।प्याज का तेल सल्फर में समृद्ध है, जो टूटना और पतला होने को कम करने के लिए जाना जाता है।

किस विटामिन की कमी से बाल झड़ते हैं? (Which vitamin deficiency causes hair loss)?

विटामिन बालों की वृद्धि में आवश्यक भूमिका निभाते हैं विटामिन में कमी से बालों के झड़ने से जुड़ी कई समस्याएं हो सकती हैं नियासिन या विटामिन बी 3 और बायोटिन एक और बी विटामिन है जो बालों के झड़ने की ओर जाता है कि शरीर में विटामिन डी की कमी बालों के विकास को प्रभावित करती है बालों के झड़ने वाले लोगों में अन्य लोगों की तुलना में विटामिन डी का स्तर कम होता है|

बालों को झड़ने से रोकने के लिए कौन से विटामिन अच्छे हैं?(What vitamins are good for preventing hair fall?)

  • विटामिन ए (Vitamin A):- यह शरीर में मौजूद हर कोशिका के लिए मूलभूत इकाई है बाल सबसे तेजी से बढ़ते ऊतक हैं विटामिन ए इसकी वृद्धि में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है| विटामिन ए पशु उत्पादों जैसे दूध, अंडे में पाया जाता है|
  • विटामिन बी (Vitamin B) :– ​​बालों के विकास में प्रमुख विटामिन में से एक विटामिन बी को बायोटिन्स भी कहा जाता है| यह आरबीसी के निर्माण में मदद करता है और खोपड़ी तक ऑक्सीजन, पोषक तत्व पहुंचाता है| विटामिन बी पूरे अनाज, बादाम, मांस, समुद्री भोजन, हरी पत्तेदार सब्जियों में पाया जाता है|
  • विटामिन सी (V itamin C) :- यह एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट है जो मुक्त कणों के कारण होने वाले ऑक्सीडेटिव तनाव से बचाता है कोलेजन नामक एक प्रोटीन जो बालों के विकास के लिए महत्वपूर्ण है यह विटामिन बालों के लिए आवश्यक खनिजों को अवशोषित करने में मदद करता है| खट्टे फल जैसे संतरे, स्ट्रॉबेरी, मिर्च आदि बालों के विकास के लिए अच्छे होते हैं|
  • विटामिन डी(Vitamin D):- यह बालों के विकास के लिए एक प्रमुख कारक होता है जो नए रोम बनाने में मदद करता है विटामिन डी बालों के उत्पादन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है| वसायुक्त मछली, कॉड लिवर ऑयल, कुछ मशरूम और फोर्टिफाइड खाद्य पदार्थ विटामिन डी का अच्छा स्रोत हैं|

बाल झड़ने से रोकने के लिए आसान घरेलू उपाय –(Hair Fall Tips and Treatment at Home)

आजकल बाल झड़ने की समस्या आम हो गई है। पुरुष हो या महिला हर कोई इससे परेशान है। इस समस्या के लिए हम खुद जिम्मेदार हैं। इस व्यस्त जीवन में समय बचाने के लिए हम प्राकृतिक संसाधनों की जगह सिर्फ केमिकल युक्त उत्पादों का प्रयोग करते हैं, जिसका नकारात्मक प्रभाव हमारे बालों पर पड़ता है। बाल झड़ने के कारण गंजेपन तक का सामना करना पड़ सकता है। बाल झड़ने के घरेलू उपायों के बारे में, जिनके प्रयोग से न सिर्फ बाल मजबूत होंगे, बल्कि उनकी प्राकृतिक चमक भी लौट आएगी।

बाल झड़ने के कारण (Causes of Hair Fall)

1. तनाव (Tension) :- जो शख्स तनाव की गिरफ्त में आया, उसे विभिन्न स्वास्थ्य समस्याएं शुरू हो जाती हैं। अब तक हुईं विभिन्न रिसर्च में भी यह बात स्पष्ट हुई है कि तनाव के चलते बाल कमजोर होकर टूटने लगते हैं।

2. आनुवंशिक (Genetic) :- बालों के झड़ने का एक प्रमुख कारण आनुवंशिक भी है, जिसे एंड्रोजेनेटिक एलोपेसिया कहा जाता है अमेरिका अकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी (US Academy of Dermatology) का मानना है कि बाल झड़ने के पीछे सबसे बड़ा कारण यही होता है। अगर परिवार में पहले किसी को यह समस्या रही है, तो परिवार में किसी अन्य सदस्य को भी इसका सामना करना पड़ सकता है।

3. हार्मोन में बदलाव (Hormone changes) :- मेनपॉज के कारण, गर्भावस्था की स्थिति में या थायराइड होने पर शरीर में हार्मोन बदलने लगते हैं। इस कारण से भी बाल झड़ सकते हैं।

4. असंतुलित भोजन खाना (Eating unbalanced food) :- खानपान में सावधानी न बरतने से भी बाल कमजोर होकर गिरने लगते हैं। यह समस्या ज्यादातर उन लोगों के साथ होती है, जो जंक फूड खाना पसंद करते हैं। जंक फूड में ऐसा कोई पौषक तत्व नहीं होता, जो हमारी सेहत व बालों के लिए अच्छा हो। इसके अलावा, यह समस्या उन्हें भी होती है, जो खानपान में संतुलन नहीं बनाकर रखते यानी नियमानुसार भोजन नहीं करते।

5. प्रोटीन की कमी ( Protein deficiency) :- हमारे बाल प्रोटीन के कारण बनते, बढ़ते और मजबूत होते हैं। बालों के लिए इस प्रोटीन को केराटिन कहा जाता है। अगर भोजन में प्रोटीन की कमी होती है, तो बाल कमजोर होने लगते हैं। परिणामस्वरूप बाल रूखे और बेजान होकर टूटने लगते हैं|

6. एनीमिया (Anemia) :- महिलाओं में खून की कमी होना आम बात है, जिस कारण महिलाओं को एनीमिया हो जाता है। यह भोजन में आयरन की कमी के कारण होता है। आयरन की कमी होने से शरीर में पर्याप्त मात्रा में लाल रक्त कोशिकाएं नहीं बन पाती हैं। ये लाल रक्त कोशिकाएं ही हैं, जो पूरे शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई कर ऊर्जा प्रदान करने में मदद करती हैं। ऑक्सीजन की कमी के कारण बालों को विकसित होने के लिए जरूरी पोषक तत्व नहीं मिल पाते और टूटकर गिरने लगते हैं।

बाल झड़ने से रोकने के घरेलू इलाज (Home Remedies for Hair Fall)

1.मेथी (Fenugreek) :- एक कप में मेथी के बीज को रात भर भिगोकर रख दें सुबह उसका पेस्ट बनाकर जड़ों से लेकर बालों तक लगाएं| 40 मिनट बाद ठंडे पानी से सिर को धो लें इसका प्रयोग महीने में एक से दो बार कर सकते हैं |

2.अंडा (Egg) :- अंडे के सफेद हिस्से को एक चम्मच जैतून के तेल में मिला लें इस मिश्रण को अपने बालों में लगाएं 15 से 20 मिनट बाद बालोंको ठंडे पानी से धो लें और शैंपू कर लें आप इसका प्रयोग हफ्ते में दो से तीन बार कर सकते हैं|

3.ग्रीन टी (Green tea) :- दो ग्रीन टी बैग्स को 2 / 3 कप गरम पानी में डाल ले | ग्रीन टी बैग्स को कब से बाहर निकाल कर उस पानी से बालों को धो लें बालों में शैंपू का प्रयोग करने के बाद इसे कंडीशनर की तरह प्रयोग करें|

4. आंवला(Gooseberry) :- 4/5 आंवले को एक कप नारियल के तेल में जब तक उबालें जब तक वह काला ना हो जाए| तेल को ठंडा होने पर बालों में लगाएं और 20 से 30 मिनट बाद शैंपू से सर को धोले |

5.दही(Curd) :- थोड़े से मेथी के दानों को मिक्सी में पीस लें उसे एक कटोरी दही में मिक्स कर लें इस मिश्रण को बालों में लगाएं और 20 मिनट बाद गुनगुने पानी से धोकर शैंपू कर लें इसका इस्तेमाल आप हफ्ते में दो से तीन बार कर सकते हैं |

Tagged : / /