वजन बढ़ाने के टिप्स (Weight gain tips)

तनाव आवश्यकता से अधिक बढ़ जाए तो इससे कोर्टिसोल का स्तर भी बढ़ जाता है। एक स्टडी के मुताबिक, कोर्टिसोल का उच्च स्तर व फैट मास का आपस में गहरा नाता है। कोर्टिसोल नामक स्ट्रेस हार्मोन कई तरह की समस्याएं पैदा करने के साथ−साथ वजन भी बढ़ाने का काम करता है।

वजन कैसे बढ़ता है?(How does weight gain)?

कमजोर व दुबला पतला शरीर होने से ना सिर्फ पर्सनालिटी पर इसका खराब असर पड़ता है बल्कि कमजोर शरीर होने से बीमारियों से बचाव भी मुश्किल होता है | किसी दुर्घटना या बीमारी की वजह से यदि शरीर में रक्त की कमी हो जाये तो कमजोर व्यक्ति के लिए मुसीबत सामान्य व्यक्ति की तुलना में कई गुना अधिक बढ़ जाती है इसलिए कमजोर व्यक्ति को अपना वजन बढ़ाने के लिए उपाय जरुर करने चाहिए | लेकिन वजन बढ़ाना और संतुलित तरीके से वजन बढ़ाना, दोनों बिलकुल अ‍लग-अलग बाते हैं। अगर आपका वजन कम है और आप उसे ठीक तरह से बढ़ाना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको बिना किसी सप्लीमेंट के धीरे-धीरे प्राकृतिक तरीके से अपने वजन में वृद्धि करनी चाहिए | इसके लिए सबसे जरुरी बातें है- पोष्टिक आहार खाना, मजबूत पाचन शक्ति, कब्ज जैसी पेट की बीमारियाँ ना होना, थोडा बहुत व्यायाम और भरपूर नींद इसके अतिरिक्त कार्बोहाइड्रेट की अधिकता वाला भोजन अधिक करें क्योंकि अतिरिक्त कार्बोहाइड्रेट शरीर में जमा होने लगता है जिससे वजन बढ़ाने में सहायता मिलती है |

वजन बढ़ाने के घरेलू उपाय(Home remedy for weight gain)

  • वजन बढ़ाने के लिए प्रोटीन का सेवन जरूरी है इसलिए अपने आहार में चिकन, मछली, अंडा, दूध, बादाम व मूंगफली आदि को शामिल करें। इसके अलावा कार्बोहाइड्रेट भी वजन बढ़ाने में मददगार होता है इसके लिए आप इन सब चीजो का सेवन करें पास्ता, आलू, ब्राउन राइस, ओटमील आदि।
  • वजन बढ़ाने के लिए सुबह-सुबह ‌सूखे मेवे को दूध में पीसकर उबाल लें और इसे पिएं। खासतौर पर बादाम, खजूर और अंजीर के साथ गर्म दूध पीने से भी वजन तेजी से बढ़ता है। किशमिश खाने से वजन तेजी से बढ़ता है।
  • वजन बढ़ाने के लिए हरे आवलों को कद्दूकस करके अथवा कुचलकर कपड़े से छानकर आवलों का रस निकाल लें। इसे 15 ग्राम (तीन चाय वाले चम्मच भर) में समान भाग में शहद मिलाकर प्रात: समय व्यायाम के बाद पी लें। इस प्रयोग के 2 घंटे बाद तक कुछ भी न खाएं-पिएं। यह प्रयोग निरंतर 2 माह कर लेने से कायाकल्प होकर दुबले-पतले और रोगी व्यक्ति मोटे-ताजे तथा स्वस्थ हो जाते हैं।
  • वजन बढ़ाने के लिए सुबह-शाम भैंस के दूध में छुआरा मिलाकर पीने से भी कमजोर व्यक्ति का वजन तेजी से बढ़ता है।
  • 200 ग्राम पका केला खाकर ऊपर से 200 ग्राम दूध पीने से शरीर धीरे-धीरे वजन बढ़ाने में सहायता मिलती है तथा व्यक्ति मोटा होने लगता है।
  • वजन बढ़ाने के लिए के लिए दूध हमेशा फुल क्रीम वाला ही पियें |
  • घी और शक्कर मिलाकर खाने से मोटापा बढ़ता है तथा दुबलापन दूर होता है।
  • वजन बढ़ाने के लिए रोजाना दूध में शहद मिला कर पिएं।
  • सुबह के भोजन में चावल व मक्का की चपातियां खाने से भी शरीर मोटा होता है।
  • नारियल की गिरी को मिश्री के साथ चबाने से दुबलापन दूर होता है।
  • अनार, चुकंदर, टमाटर का रस रक्त में आयरन का स्तर बढ़ाता है इसलिए इन सब जूस का सेवन जरुर करें |
  • वजन बढ़ाने के लिए छुआरा भी बहुत काम की चीज है यह शरीर का नव रक्त का निर्माण करता है, ताकत प्रदान करता है। तथा शरीर का दुबलापन भी दूर करता है।
  • सुबह के भोजन में छिलके सहित काले उड़द की दाल खाने से वजन बढ़ाने में मदद मिलती है।
  • मौसम के मुताबिक फलों के सेवन करें ।
  • प्रतिदिन सुबह खुली हवा में टहलने से शरीर मजबूत होता है।
  • किसी भी तरह के तनाव को भूलकर भी न पालें, क्योंकि तनाव दुबले शरीर को मोटा होने में बाधा पहुंचाता है।
  • सर्दियों में मक्के की चपातियां खाने से पतला शरीर धीरे-धीरे मोटा होने लगता है।
  • मोटा होने के लिए आप पीनट बटर, चीस, पनीर, घी, ब्रेड, रेड मीट, केक, मिठाइयाँ, चोकलेट,
  • गोंद के लड्डू दूध के साथ आदि का सेवन करें लेकिन यदि आपकी उम्र 20-25 साल से अधिक है तो इनका कम मात्रा में ही सेवन करें नहीं तो कई दूसरी बीमारियाँ आपको घेर सकती है |
  • रोजाना दो सेब चबा-चबाकर खाने से भूख खुलकर लगती है तथा खाना खाने की क्षमता बढ़ती है। इससे भी शरीर का दुबलापन दूर होने लगता है।

हर्बालाइफ व्यक्तिगत प्रोटीन पाउडर (Herbalife Personalized Protein Powder)

इस प्रतिस्पर्धा के दौर में कई तरह के वजन बढ़ाने के लिए बेस्ट प्रोटीन पाउडर बाजार में उपलब्ध हैं|जो वजन बढ़ाने में आपकी मदद करेंगे। ओएन सीरियस मास गेनर पाउडर मांसपेशियों को लाभ पहुंचाता है और वजन बढ़ाने में मदद करता है। यह प्रोटीन पाउडर बाजार में केला, वेनिला, चॉकलेट और चॉकलेट पीनट बटर जैसे विभिन्न फ्लेवर में आता है। यह मास गेनर एक नॉन-शाकाहारी उच्च कैलोरी वजन बढ़ाने वाला पाउडर है, जिसमें कार्ब प्रोटीन का अनुपात 5:1 है। जब इसको पानी के साथ मिलाया जाता है तो यह प्रति सर्विंग में 1250 कैलोरी प्रदान करता है और यदि इसे कम वसा वाले दूध के साथ एक शेक के तौर पर बनाया जाता है तो इसमें कैलोरी की मात्रा 1640 हो जाती है। यह 50 ग्राम मिक्स्ड प्रोटीन और 250 ग्राम बिना चीनी का कार्बोहाइड्रेट प्रदान करता है। इसमें कई आवश्यक खनिज और विटामिन के साथ ग्लूटामिक एसिड, ग्लूटामाइन और क्रिएटिन पाया जाता हैं। यह प्रोटीन पाउडर एक शाकाहारी उत्पाद है, जो प्लांट बेस्ड सोया, गेहूं और पीले मटर से तैयार होता है और आपके शरीर का वजन बढ़ाने में मदद करता है ।

  • बस अपने पसंदीदा फॉर्मूला 1 शेक के साथ व्यक्तिगत प्रोटीन पाउडर के 2 से 3 स्कूप्स को मिलाएं|
  • कैल्शियम के मामले में, चीनी प्रोटीन विटामिन और खनिज पोषण बच्चों के पेय मिश्रण है|

हिमालया वेलनेस अयुरस्लीम कैप्सूल वेट मैनेजमेंट (Himalaya Wellness AyurSlim Capsules Weight Management)

गार्सिनोनिया को शरीर की वसा को स्टोर करने की क्षमता को धीमा करने के लिए जाना जाता है, संभावित रूप से खाद्य पदार्थों से अधिक वसा को संग्रहीत किए बिना शरीर से गुजरने में सक्षम बनाता है। यह आपका एक चौथाई पेट भरता है और कम भूख लगने का अहसास कराता है। इसके अलावा यह पाचन तंत्र के लिए भी उपयोगी है।

  • हिमालय ड्रग कंपनी है|
  • मोटापा, हाइपरलिपिडिमिया और शुगर के लिए तरसना|
  • भोजन के बाद या अपने चिकित्सक द्वारा निर्देशित दो गोली प्रतिदिन दो बार|

वजन बढ़ाने के लिए भूख लगना भी है जरुरी(Hunger is also necessary to gain weight)

  • वजन बढ़ाने के लिए सबसे पहले भूख का लगना और खाया हुआ भोजन पचना सबसे जरुर बात है इसलिए भोजन के एक घंटा पहले पंचसकार चूर्ण को एक चम्मच गरम पानी के साथ लेने से भूख खुलकर लगती है ।
  • भोजन में पतले एवं हलके व्यंजनों का प्रयोग करने से खाया हुआ जल्दी पच जाता है, जिससे जल्दी ही भूख लग जाती है।
  • खाना खाने के बाद अजवायन का चूर्ण थोड़े से गुड़ के साथ खाकर गुनगुना पानी पीने से खाया हुआ पचेगा, भूख लगेगी और खाने में रुचि पैदा होगी।
  • भोजन के बाद सुबह-शाम दो-दो चम्मच पंचासव (Panchasav) सीरप लें, इससे खाया-पिया जल्दी पच जाएगा और खाने के प्रति रुचि बढ़ेगी ।
  • पानी अधिक मात्रा में पियें और थोड़ी बहुत एक्सरसाइज जरुर करें |
  • इन उपायों से आप एक महीने म एक से दो किलो तक वजन बढ़ा सकते है |

वजन बढ़ाने के लिए योग कैसे मदद करता है?(How does yoga help to gain weight)?

योग को मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य की कुंजी माना गया है। योग शरीर में ऊर्जा के प्रवाह को बढ़ाता है और आंतरिक रूप से शरीर को शुद्ध करता है। शरीर से जुड़ी किसी भी तकलीफ का इलाज योग द्वारा संभव है, लेकिन इसके लिए आपको नियमित योगाभ्यास करना होगा और खानपान पर नियंत्रण करना होगा।

योग से न सिर्फ मोटापा कम किया जा सकता है, बल्कि वजन को बढ़ाया भी जा सकता है। अगर आप अंडरवेट का शिकार हैं, तो आप योगासन की मदद ले सकते हैं। योग की कई ऐसी क्रियाएं हैं, जो जल्द वजन बढ़ाने का काम करेंगी। ये यौगीक क्रियाएं आपकी भूख को बढ़ाएंगी, जिससे बॉडी मास भी बढ़ेगा। हम कुछ ऐसे ही योगासनों के बारे में बताएंगे, जो आपके कम वजन को ठीक करने का काम करेंगे |

वजन बढ़ाने के लिए योगासन (Yogasana for weight gain)

1.भुजंगासन (Bhujangasana) :-

अंडरवेट की समस्या से निजात पाने के लिए आप भुजंगासन कर सकते हैं। यह आसन सीधा पाचन तंत्र पर काम करता है, जिससे भूख में सुधार होता है। इसके अलावा, यह आसन करने से मेटाबॉलिज्म ठीक रहता है और सांस लेने में सुधार होता है।

2. वज्रासन (Vajrasana) :-

यह एकमात्र ऐसा आसन है, जिसका अभ्यास भोजन के तुरंत बाद किया जा सकता है। यह आसन सीधा पाचन तंत्र पर काम करता है और मेटाबॉलिजम को नियंत्रित करने का काम करता है। इसके अलावा, यह आसन मन भी शांत करता है। अंडरवेट की समस्या को ठीक करने के लिए आप वज्रासन का अभ्यास कर सकते हैं।

3. सूर्य नमस्कार (Surya Namaskar) :-

अंडरवेट की समस्या से निजात पाने के लिए आप सूर्य नमस्कार का अभ्यास कर सकते हैं। सूर्य नमस्कार को आसनों का समूह कहा जाता है, जिसमें 12 मुद्राएं शामिल होती हैं और इन्हें आपको एक के बाद एक करना होता है। यह सभी आसन मिलकर पाचन तंत्र से लेकर हृदय स्वास्थ्य, तंत्रिका तंत्र व मांसपेशियों को स्वस्थ रखने का काम करते हैं। घटते वजन को संतुलित करने के लिए आप सूर्य नमस्कार का सहारा ले सकते हैं। यह आसन इम्यून सिस्टम को मजबूत करने का काम भी करता है, जिससे आपकी भूख न लगने की आदत में सुधार होगा और आपका बीएमआई बढ़ेगा।

4.सर्वांगासन (Sarvangasan) :-

सर्वांगासन रक्त और ऑक्सीजन के संचालन में सुधार करने के लिए प्रभावी आसन है। रक्त का संचालन शरीर में पोषक तत्वों को बढ़ावा देता है, जिससे शरीर के सभी अंग पोषित होते हैं। शरीर में ऊर्जा और मजबूती के लिए आप इस आसन का अभ्यास नियमित रूप से कर सकते हैं।

Tagged : /